Time Series Least Square Method Formula, Best Shampoo For 3b Hair, The Art Of Invisibility Review, Education Cartoons For Teachers, Training Improvement Feedback, " />

2011 janganana list

2011 janganana list

Census 2011 Data in Hindi in PDF. Rajasthan Census - 2011 राजस्थान की जनगणना Rajasthan most populous districtRajasthan highest population density decadal growth of minimum , useful in all exams Rajasthan Census 2011 राजस्थान जनगणना (Janganana) राजस्थान की कुल जनसंख्या - 6,85,48,437 शहरी जनसंख्या - 17,048,085 (कुल जनसंख्या का 24.9 प्रतिशत) Districts of Maharashtra. 2011 जनगढ़ना List में अपना नाम देखे या Downolad करे … List of villages selected for Pilot Rural Socio Economic Survey 2010. STEP 2: Under the “Stakeholder” menu, click the “SECC Family Member Details” as given in the below image. The SECC Data is respondent based input. A census may list only selected persons (such as males between the ages of 16 and 45) or list the whole population. Letter dated 11.7.2011 Regarding Infrastructure requirements for Charge Centres Circular for Publication of Draft List of SECC in Special Charges 31 Aug 2012 State wise list of Enumeration Block as per ORGI on 8th November, 2011 भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा 2011 के कुल अनंतिम जनसंख्या पर दी गई जानकारी प्राप्त करें। उपयोगकर्ता राज्यों … Facebook. जनगणना 2011 का प्रथम चरण अप्रैल 2010 से सितंबर 2010 तक चला एवं द्वितीय चरण की अवधि 9 फरवरी से 5 मार्च 2011 थी। Click View Film Notes to see the film numbers for each census year. भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा 2011 के कुल अनंतिम जनसंख्या पर दी गई जानकारी प्राप्त करें। उपयोगकर्ता राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की कुल अनंतिम जनसंख्या, पेपर 1 और 2 से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।, भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा उपलब्ध कराये गए 2001 जनगणना के संक्षिप्त आंकड़े ऑनलाइन देखें। उपयोगकर्ता भारत, इसके राज्यों, जिलों, अनुमानित जनसंख्या, भूमि क्षेत्रों के लिए कोड सूची, गणना के बाद के सर्वेक्षण पर रिपोर्ट आदि देख सकते हैं। जनगणना के आंकड़ों को खोजने, मेटा डेटा और सूची की भी जानकारी उपलब्ध है।, भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर बायोमीट्रिक नामांकन योजना पर दी गई जानकारी प्राप्त करें। उपयोगकर्ता राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के तहत आवास के पंजीकरण, दिल्ली, गोवा, नागालैंड और ओडिशा में नगर निगम वार्डों के लिए बायोमीट्रिक नामांकन कार्यक्रम और एनपीआर के लिए वार्ड के आधार पर प्रभारी अधिकारियों की सूची से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।, भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा भारत की भाषाई सर्वेक्षण पर दी गई जानकारी प्राप्त करें। उपयोगकर्ता राजस्थान, सिक्किम, उड़ीसा और दादरा व नगर हवेली के भाषाई सर्वेक्षण के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। विभिन्न राज्यों के विभिन्न भाषाई समूहों के बारे में जानकारी दी गई है, भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा गांवों, कस्बों, जिलों आदि पर दी गई जानकारी प्राप्त करें। उपयोगकर्ता राज्य के नाम का चयन करते हुए शहर या गांव का नाम दर्ज कर गांवों, कस्बों, जिलों, जिला कोड, उप-जिला, उप-जिला कोड की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।, भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा लिंग संबंधी आंकड़े की डाटा शीट दी गई है। उपयोगकर्ता राज्य का नाम और जिले का नाम का चयन करके लिंग संबंधी आँकड़ों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। लिंगानुपात, महिला साक्षरता दर, कार्यरत महिलाओं की दर आदि के बारे में भी जानकारी दी गई है।, भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा उपलब्ध कराये गए सेंसस इन्फो इंडिया डैशबोर्ड की मदद से जनगणना के परिणाम पर समेकित रिपोर्ट देखें। उपयोगकर्ता सेंसस इन्फो इंडिया 2011, मकान, घरेलू सुविधाओं, संपत्ति आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।, भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा उपलब्ध कराये गए 2001 जनगणना संबंधी आंकड़े ऑनलाइन देखें। कस्बों, वहाँ की जनसंख्या, भाषा, मातृभाषा और जनगणना संदर्भ तालिकाओं से संबंधित जानकारी दी गई है। पंजीकृत उपयोगकर्ता लॉग इन कर ये आंकड़े ऑनलाइन देख सकते हैं।, भारतीय जनगणना के सैंपल पंजीकरण प्रणाली के बारे में जानकारी प्राप्त करें। उपयोगकर्ता उर्वरता संकेतक, मृत्यु-दर संकेतक, जनसंख्या की संरचना, सैंपल पंजीकरण प्रणाली आंकड़ा रिपोर्ट 2010, फ्लो-चार्ट आदि से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।, भारत के जनगणना आयुक्त और महापंजीयक कार्यालय द्वारा 2011 की प्रशासनिक एटलस के बारे में जानकारी प्रदान की गई है। उपयोगकर्ता केंद्र और राज्य सरकारों के प्रशासनिक प्रभागों से संबंधित आँकड़े और इन पर विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। देश में नव-निर्मित जिलों के विवरण सहित एक नक्शा भी यहाँ दिया गया है।, यह भारत का राष्ट्रीय पोर्टल है जिसका विकास भारत सरकार के विभिन्‍न संगठनों द्वारा दी जा रही सेवाओं और सूचनाओं की जानकारी एक ही स्‍थान पर उपलब्‍ध कराने के उद्देश्‍य से किया गया है।। यह पोर्टल राष्ट्रीय ई-शासन योजना के अंतर्गत एक मिशन मोड परियोजना है जिसका निर्माण एवं परिकल्पना राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एनआईसी), इलेक्‍ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय , भारत सरकार द्वारा किया गया है।, 2011 की जनगणना में कुल अनंतिम जनसंख्या की जानकारी, 2001 की जनगणना से संबंधित आँकड़ों का संक्षिप्त विवरण, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर बायोमीट्रिक नामांकन योजना, 2001 की जनगणना से संबंधित आँकड़ों की ऑनलाइन जानकारी, भारत के जनगणना आयुक्त द्वारा प्रशासनिक एटलस. Janganana APK : New version released on Playstore for Android users : 4.4.5 Functionality available : Janganana Search Janganana records Bug fixes : Camera upload issue for Samsung phone models for ID proof4 Driving License Expiry date Validation rror codes & … This set contains 13 questions based on Census 2011 of Uttar Pradesh, made for the exams like IAS/PCS/SSC etc. The period of enumeration of SECC is different than Census 2011. Twitter. The inclusion or exclusion of a family in the BPL list is already decided in the Socio-Economic Caste Census-2011 data and the complete state wise list of BPL households can be downloaded from the respective websites of state departments. To check the details of PMAY-G beneficiaries in the SECC-2011 list, follow the following steps. चंद्रमौली द्वारा राष्ट्र को समर्पित भारत की १५वीं राष्ट्रीय जनगणना है, जो १ मई २०१० को आरम्भ हुई थी। भारत में जनगणना १८७२(1872) से की जाती रही है और यह पहली बार है जब बायोमेट्रिक जानकारी एकत्रित की गई। जनगणना को दो चरणों में पूरा किया गया। अंतिम जारी प्रतिवेदन के अनुसार, भारत की जनसंख्या २००१-२०११ दशक के दौरान १८,१४,५५,९८६ से बढ़कर १,२१,०8,54,977 हो गई है और,[1] भारत ने जनसंख्या के मामले में अपने दूसरे स्थान को बनाए रखा है। इस दौरान देश की साक्षरता दर भी ६४.८३% से बढ़कर ६९.३% हो गई है।भारतीय संविधान की धारा 246 के अनुसार देश की जनगणना कराने का दायित्व सरकार को सौंपा गया है या संविधान की सातवीं अनुसूची की क्रम संख्या 69 पर अंकित है जनगणना संगठन केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करता है जिसका उच्चतम अधिकारी भारत का महापंजीयक एवं जनगणना आयुक्त होता है यह देश भर में जनगणना संबंधी कार्यों को निर्देशित करता है तथा जनगणना के आंकड़ों को जारी करता है वर्तमान में भारत के महापंजीयक एवं जनगणना आयुक्त डॉक्टर शिव चंद्र मौली है इन से पूर्व इस पद पर देवेंद्र कुमार सिकरी (2004 से 2009)तक थे 2011 ईस्वी की जनगणना यानी 15 वी जनगणना स्वतंत्र भारत की सातवीं जनगणना की शुरुआत महापंजीयक एवं जनगणना आयुक्त के द्वारा 1 अप्रैल 2010 इसमें से हुई है सितंबर 2010 ईस्वी को केंद्रीय मंत्रिमंडल जाति आधारित जनगणना (1931 ईस्वी के बाद पहली बार) की स्वीकृति प्रदान की जो अलग से जून 2011 से सितंबर 2011 ईस्वी के बीच संपन्न हुई थी जनगणना 2011 ईसवी का शुभंकर प्रगणक शिक्षिका थी था इस का आदर्श वाक्य- हमारी जनगणना हमारा भविष्य।, २०११ की जनगणना के लिए कुल २७ लाख अधिकारियों ने ७,००० नगरों/कस्बों और ६,००,००० गाँवों के परिवारों के यहाँ पधार कर आँकड़े जुटाए जिसमें लोगों को लिंग, धर्म, शिक्षा-स्तर और व्यवसाय इत्यादि में वर्गीकृत किया गया। इस काम में कुल २२ अरब रुपए खर्च किए गए। प्रति दस वर्षों में होनी वाली इस जनगणना में देश के विशाल आकार और सांस्कृतिक विविधता के अतिरिक्त भी बहुत सी चुनौतियाँ भी होती हैं।, जनगणना में किसी व्यक्ति की जाति से संबंधित सूचना का समावेश, सत्तारूढ़ गठबंधन के कई बड़े नेताओं जैसे कि लालू प्रसाद यादव, शरद यादव, मुलायम सिंह यादव और मायावती जैसे नेताओं की जोरदार मांग पर किया गया। इसी मांग का समर्थन विपक्षी पार्टियों जैसे कि भारतीय जनता पार्टी, अकाली दल, शिवसेना और अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम[2] दलों द्वारा भी किया गया। जाति संबंधी सूचना का समावेश पिछली बार ब्रिटिश राज के दौरान हुई 1931 की जनगणना में किया गया था। शुरुआती जनगणनाओं के दौरान, लोग अक्सर समाज में खुद को ऊँचे तबके का दिखाने के लिए अपनी जाति को बढ़ा चढ़ा कर पेश किया करते थे, पर इस बार लगता है कि लोग सरकारी लाभ पाने के उम्मीद में अपनी जाति को निम्न बताने की चेष्टा करें।[3], स्वतंत्र भारत में जाति-गणना का सिर्फ एक उदाहरण मिलता है। केरल में 1968 में ई.एम.एस. Your are here : Home / Find Villages/Towns. Check PMAY-G Beneficiary Family Details in SECC List. The BPL list is is must for those who are looking to enroll themselves for availing the benefits of welfare schemes in 2019-2020, especially … राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एनआईसी), इलेक्‍ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय. जनगणना लिस्ट में अपना नाम देखें - SECC 2011 - YouTube List of villages selected for Pilot Rural Socio Economic Survey 2010. Maharashtra is an State of India with population of Approximate 11.24 Crores. इस पोस्ट में क्या है ? धर्म. 1 सातवीं आर्थिक जनगणना 2019 काम कैसे करना है और मोबाइल ऐप कैसे डाउनलोड करें | How to work for the Seventh Economic Census 2019 and download the mobile app.. 1.1 How to register first in the seventh economic census 2019 | Shivaay-May 10, 2020. August 7, 2018 August 7, 2018 mpscmantra. The population of Maharashtra state is 112,374,333. Pilot Socio-Economic Survey 2010 - Data. Maharashtra State is spread over 307,713 Sq Km. Bhart ki Janganana 2011, जनगणना 2011-जनसँख्या के आधार पर भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश है | यहाँ से सभी आगामी … The second population enumeration phase was conducted between 9 and 28 February 2011. महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त का कार्यालय, भारत: गृह मंत्रालय, भारताची जनगणना 2011. Pinterest. Village Master List… [2] Scroll down the list of topics, and click Census. secc 2011 final list|secc 2011 final list download pdf. BPL Census 2011. SECC 2011 HIGHLIGHTS(Rural) SECC 2011 HIGHLIGHTS(Rural) VIEW RESULTS . Censuses provide information when other records are missing. क्या है इस लेख में hide. … Find Villages/Towns: Search २०११ ची गणना सलग १५ वी आणि स्वातंत्र्‍यानंतरची सातवी. Pilot Socio-Economic Survey 2010 - Data. The SECC data is the "revealed data" by the household members to the enumerator. Census has been conducted in India since 1872 and 2011 marks the first time biometric information was collected. It is necessary that the data is understood with respect to the questionnaire. WhatsApp. STEP 1: Go to the official website at pmayg.nic.in. 1 BPL सूची SECC-2011 … South India is the area encompassing the Indian states of Andhra Pradesh, Karnataka, Kerala, Tamil Nadu and Telangana as well as the union territories of Lakshadweep and Puducherry, occupying 19.31% of India's area (635,780 km 2 or 245,480 sq mi). आइये डालते है एक नजर 2011 के जनगणना से जुड़े कुछ बेहद ही महतवपूर्ण तथ्यों पर. Important भारत की जनगणना 2011 PDF की सम्पूर्ण जानकारी आगामी Railway, SSC, VDO लेखपाल के लिए महत्वपूर्ण | 2011 ki janganana ke anusar bharat ki jansankhya By. According to the provisional reports released on 31 March 2011, the Indian population increased to 1.21 billion with a decadal growth of 17.70%. The density of Maharashtra state is 365 per sq km. जिला जनगणना पुस्तिका – 2011, ग्राम एवं नगर निर्देशिका Office of the Registrar General & Census Commissioner, India वेबसाइट नीति नंबूदिरीपाद की कम्युनिस्ट सरकार के द्वारा विभिन्न निचली जातियों के सामाजिक और आर्थिक पिछड़ेपन के आकलन के लिए जाति-गणना की गयी थी। इस जनगणना को 1968 का सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण कहा गया था और इसके परिणाम केरल के 1971 के राजपत्र में प्रकाशित किए गए थे।[4], इस जनगणना में तीन प्रश्नावलियाँ थीं, मकानसूचीकरण, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर और परिवार-इकाईयाँ।, जनगणना से अनंतिम आंकड़ों को 31 मार्च 2011 को जारी किया गया। सम्पूर्ण रिपोर्ट के वर्ष 2012 में जारी किये जाने की उम्मीद है।[8] जनसंख्या का कुल लिंग अनुपात 2011 में प्रत्येक 1,000 पुरुषों के लिए 944 महिलाओं की है।[9] भारत में ट्रांसजेंडर(तीसरे लिंग) की आधिकारिक संख्या 4.9 लाख है।, हिन्दुओं की जनसंख्या 79.8% (96.8 करोड़) है।[10] मुसलमानों की जनसंख्या 14.2% है (जनगणना के अनुसार 17.2 करोड़) जो की पिछले दसक 11% थी।[11][12] अगस्त 2011 में भारत की जनगणना के आंकड़ों को जारी किया गया था।[13] इसमें पता चला है कि 2,870,000 लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया में कोई धर्म नहीं बताया,[14] देश की जनसंख्या का लगभग 0.27%। हालांकि, संख्या में नास्तिक, तर्कसंगतवाद और उन लोगों को शामिल किया गया जो उच्च शक्ति में विश्वास करते थे। "अन्य" विकल्प नाबालिग या आदिवासी धर्मों के साथ-साथ नास्तिक और अज्ञेयवाद के लिए भी था।, हिंदी भारत के उत्तरी हिस्सों में सबसे व्यापक बोली जाने वाली भाषा है।[16] भारतीय जनगणना "हिंदी" की व्यापक विविधता के रूप में "हिंदी" की व्यापक संभव परिभाषा लेती है।[17][18] 2011 की जनगणना के अनुसार, 57.1% भारतीय आबादी हिंदी को जानती है[19] जिसमें 43.63% भारतीय लोगों ने हिंदी को अपनी मूल भाषा या मातृभाषा घोषित कर दिया है।[20][21][22] भाषा डेटा 26 जून 2018 को जारी किया गया था।[23] भिली / भिलोदी 1.04 करोड़ वक्ताओं के साथ सबसे ज्यादा बोली जाने वाली अनुसूचित भाषा थी, इसके बाद गोंडी 29 लाख वक्ताओं के साथ थीं। 2011 की जनगणना में भारत की आबादी का 96.71% 22 अनुसूचित भाषाओं में से एक अपनी मातृभाषा के रूप में बोलता है।

Time Series Least Square Method Formula, Best Shampoo For 3b Hair, The Art Of Invisibility Review, Education Cartoons For Teachers, Training Improvement Feedback,

«